भोपाल : राष्ट्रीय जल जीवन मिशन में 25 लाख से अधिक एफएचटीसी (क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन) के लक्ष्यों वाले 7 बड़े राज्यों की प्रगति की समीक्षा (31 दिसम्बर 2020 की स्थिति) में मध्यप्रदेश अग्रणी तीन राज्यों में है। मध्यप्रदेश की ग्रामीण आबादी के अनुसार जल जीवन मिशन में वर्ष 2020-21 से वर्ष 2023-24 तक के 4 वर्षों में एक करोड़ से अधिक एफएचटीसी दिये जाने का लक्ष्य निर्धारित है।

अपर मुख्य सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग श्री मलय श्रीवास्तव ने बताया कि मध्यप्रदेश के लिये चालू वित्तीय वर्ष में 26.26 लाख एफएचटीसी का लक्ष्य रखा गया था। प्रदेश में जल जीवन मिशन में परिणाममूलक क्रियान्वयन करते हुए प्रारंभिक तीन त्रेमासों में शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण कार्य की प्रगति में आये व्यवधान अब काफी हद तक दूर हो चुके हैं। पीएचई विभाग अपने इस वर्ष के लक्ष्य को समय-सीमा में पूरा कर अगले वर्ष की ओर सुनियोजित प्रयासों के साथ अग्रसर होगा।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के अन्तर्गत देश की सम्पूर्ण ग्रामीण आबादी को वर्ष 2024 तक घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से जल प्रदाय किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। जल जीवन मिशन का जून 20 में वास्तविक रूप से क्रियान्वयन प्रारंभ करते हुए मध्यप्रदेश वर्ष 2023 तक कार्य पूर्ण किये जाने का लक्ष्य बनाकर कार्यवाही कर रहा है।