भोपाल। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, पूर्व सांसद, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भाजपा के वरिष्ठ नेता, राजनीति के संत स्वर्गीय कैलाश जोशी की प्रथम पुण्यतिथि पर उन्हें सादर सुमन अर्पित किए गए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों, सांसद, विधायकों ने उनके निवास पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दौरान बड़ी संख्या में भाजपा नेता, कार्यकर्ता एवं समाजजन भी उपस्थित रहे। इससे पहले सुबह 11 बजे से सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया गया।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्रद्धांजलि देने के बाद कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कैलाश जोशी सेवा और सादगी की प्रतिमूर्ति थे। वे मध्यप्रदेश के लोकप्रिय नेताओं में शामिल थे। उनके मार्गदर्शन का लाभ आज भी भाजपा और समाज को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि स्व. कैलाश जोशी जनसंघ के जमाने से पार्टी के लिए समर्पित रहे हैं। उन्होंने भाजपा को यहां तक लाने में अहम योगदान दिया। उनका मार्गदर्शन हमेशा से पार्टी को मिलता रहा। मुख्यमंत्री ने स्व. कैलाश जोशी के बड़े पुत्र एवं पूर्व मंत्री दीपक जोशी के भाई प्रकाश जोशी से भी मुलाकात की और उन्हें ढांढस बंधाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व. कैलाश जोशी के विभिन्न चित्रों की प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। यह चित्र देवास के दो चित्रकारों शादब खान और अतुल पोरवाल द्वारा तैयार किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने इन चित्रों पर भी पुष्प अर्पित कर नमन किया। इस दौरान पूर्व मंत्री दीपक जोशी, योगेश जोशी,जयवर्धन जोशी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।
इन्होंने भी दी श्रद्धांजलि-
राजनीति के संत पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कैलाश जोशी को श्रद्धांजलि देने के लिए भाजपा के संगठन महामंत्री सुहास भगत, सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, भागीरथ प्रसाद, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा, जगदीश देवड़ा, ओमप्रकाश सखलेचा, बृजेन्द्र यादव पूर्व मंत्री माया सिंह, उमाशंकर गुप्ता, करण सिंह वर्मा, वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा, तपन भौमिक, विधायक आशीष शर्मा,पहाड़ सिंह पूर्व सांसद रघुनंदन शर्मा, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, माया सिंह, कर्ण सिंह वर्मा, पूर्व विधायक राजेंद्र वर्मा, शैलेंद्र प्रधान, बृजमोहन धूत, ध्रुवनारायण सिंह, प्रदेश कार्यालय मंत्री सत्येंद्र भूषण, आदिगौड़ बाबीसा ब्राहम्ण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेंद्र व्यास, वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र शर्मा, अक्षत शर्मा सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता, पदाधिकारी, कार्यकर्ता, पत्रकार एवं आमजन मौजूद रहे।