मॉस्को । विश्व के लिए भारी संकट बन चुकी कोरोना महामारी का कोई इलाज न होने के कारण एकमात्र उम्मीद आने वाली वैक्सीनों पर टिकी है। साथ ही बड़ा सवाल यह है कि कौन सी वैक्सीन की कीमती कितनी होगी। ऐसे में रूस की स्पूतनिक-5 वैक्सीन को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। दुनियाभर में फैली महामारी कोविड-19 से लड़ने के लिए बनाई गई रूस की स्पूतनिक-5 वैक्सीन की कीमत सरकार को फाइजर और मॉडर्ना से कम पड़ेगी। दुनिया की पहली पंजीकृत वैक्सीन के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने इसकी जानकारी दी है। वैक्सीन की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया कि फाइजर की घोषित कीमत प्रति खुराक की दर से 19.50 डॉलर (1446.17 रुपये) और मॉडर्ना की कीमत 25 से 37 डॉलर (1854.07-2744.02 रुपये) रखी गई है यानी एक इंसान के हिसाब से इनकी कीमत 39 डॉलर (2892.34 रुपये) और 50 से 74 डॉलर (3708.13-5488.04 रुपये) बैठेगी। हर इंसान को स्पूतनिक-5, फाइजर और मॉडर्ना के दो खुराक की जरूरत होगी। स्पूतनिक-5 की कीमत इनसे कहीं अधिक कम होगी।
रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) के एक प्रवक्ता के हवाले से समाचार एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में बताया, रूसी वैक्सीन की कीमत अगले हफ्ते सार्वजनिक की जाएगी। बड़े पैमाने पर डायग्नोस्टिक टेस्ट से पहले जब स्पूतनिक-5 को आधिकारिक तौर पर पंजीकृत किया गया, तो रूस अगस्त में कोविड-19 की वैक्सीन को नियामक स्वीकृति देने वाला यह पहला देश बन गया। इस वैक्सीन को गैमेलिया नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉजी और रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) ने मिलकर विकसित किया है। उधर, मॉडर्ना कंपनी ने पहली बार अपनी वैक्सीन की कीमत के बारे में जानकारी दी है। इसकी एक डोज की कीमत 25 डॉलर से 37 डॉलर (करीब 1800-2700 रु.) के बीच होगी। कीमत इस बात पर भी निर्भर होगी कि कितना ऑर्डर मिला है। कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव स्टीफन बेंसेल ने इस बात की जानकारी दी। 16 नवंबर को यूरोपीय कमीशन के एक अफसर ने कहा था कि हमने मॉडर्ना की लाखों डोज के लिए कंपनी से डील की है। एक डोज की कीमत 25 डॉलर से कम होगी। इस पर बेंसेल ने कहा कि ऐसी कोई डील नहीं हुई है, हां इसकी तैयारी जरूर है। हम यूरोप में वैक्सीन भेजना चाहते हैं और इसके लिए बातचीत जारी है। मॉडर्ना ने कहा था कि टेस्टिंग में उनकी वैक्सीन 94.5 प्रतिशत कामयाब रही।