नई दिल्ली |  चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings, CSK) को सोमवार (19 अक्टूबर) को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के 13वें सीजन (IPL 2020) में यह सीएसके की सातवीं हार थी। इस हार के बाद से सीएसके पर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने का खतरा मंडराने लगा है। इस मैच के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने जो बयान दिया था, उसको लेकर विवाद सा छिड़ गया है। धोनी ने मैच के बाद कहा था कि युवा खिलाड़ियों को इसलिए मौका नहीं दिया गया, क्योंकि उनमें स्पार्क नजर नहीं आया। पूर्व क्रिकेट के श्रीकांत के बाद अब प्रज्ञान ओझा ने भी धोनी के इस बयान पर प्रतिक्रिया दी है।
श्रीकांत ने इस बयान के लिए धोनी को लताड़ते हुए कहा था कि उन्हें पीयूष चावला और केदार जाधव में कौन सा स्पार्क नजर आया था? प्रज्ञान ओझा ने कहा, 'कौन है युवा खिलाड़ी? अगर वह खुद को सीनियर खिलाड़ी के तौर पर देख रहे हैं और फिर बात कर रहे हैं। या उन्होंने ऋतुराज गायकवाड़ और जगदीशन के बारे में बात की? मुझे लगता है उन्होंने केदार जाधव का जिक्र किया था। मैंने धोनी को देखा है, उनके बयान में काफी कुछ छुपा होता है।'
उन्होंने आगे कहा, 'मैं एकदम पक्के से कह सकता हूं कि वह कभी भी इन दो युवा क्रिकेटरों के लिए ऐसा कमेंट नहीं करेंगे। मैं क्यों ऐसे किसी खिलाड़ी पर कमेंट करूंगा, जिसने एक ही मैच खेला हो? मैं इस बयान में और गहराई तक जाना चाहूंगा। अगर उन्होंने ऋतुराज और जगदीशन के लिए ऐसा कहा तो मैं इसका बिल्कुल सपोर्ट नहीं करता, लेकिन अगर उन्होंने पीयूष चावला या किसी और के लिए यह बयान दिया तो?' 24 वर्षीय जगदीशन ने सीएसके के लिए एक ही मैच खेला, जिसमें उन्होंने 117.85 के स्ट्राइक रेट से 33 रन बनाए थे। ऋतुराज ने दो मैचों में पांच रन बनाए थे। केदार जाधव आठ मैच में खेले और 20.66 की औसत और 93.93 के स्ट्राइक रेट से 62 रन बनाए।