जयपुर । अयोध्या में भव्य और विशाल राम मंदिर बनाने के लिए विश्व हिन्दू परिषद की ओर से पूरे देश से चंदा इक_ा किया जा रहा है इस काम में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भी चंदा एकत्रित करने में लगी है। इसी मुहिम में एनएसयूआई ने भी कॉमर्स कॉलेज में एक रूपये कैम्पेन की शुरूआत की इस दौरान विद्यार्थी परिषद और एनएसयूआई के छात्र आमने सामने हो गए।
दोनों छात्र संगठनों के आमने-सामने होने के चलते थोड़ी देर के लिए गर्माहट की स्थिति भी देखने को मिली लेकिन मौके पर मौजूद भारी पुलिस जाब्ते ने दोनों को एक दूसरे के सामने नहीं आने दिया। इस दौरान दोनों ही छात्र संगठनों की ओर से केसरिया झंडे लहराते हुए जय श्रीराम के नारे लगते रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र नेता हो होशियार मीणा ने बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से मंदिर निर्माण के लिए पिछले 1 महीने से दान एकत्रित किया जा रहा है। एनएसयूआई भी अब दान के लिए आगे आई है, जो एक अच्छा कदम है लेकिन एनएसयूआई की ओर से जबरन दान वसूलने के आरोप पूरी तरीके से बेबुनियाद है. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से जिस भी शिक्षक छात्र या व्यक्ति से दान लिया जा रहा है, उसकी स्लिप उनको दी जा रही है. ऐसे में एबीवीपी की ओर से दान में दी गई तमाम राशि के एक-एक रुपये का हिसाब है हालांकि एनएसयूआई ने भी आज से दान के लिए कैंपेन शुरू किया है, जो एक स्वागत योग्य कदम है. एबीपीपी की ओर से राजस्थान में लगातार राम मंदिर निर्माण के लिए दान एकत्रित किया जाएगा।