बिलासपुर । बिलासपुर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक झा के निर्देश एवं मार्गदर्शन पर पहली बार बिलासपुर यातायात पुलिस द्वारा संपूर्ण छत्तीसगढ़ में एक "सकारात्मक पहल" के तहत लोगों के वाहन जांच दौरान मोटर व्हीकल एक्ट प्रशमन शुल्क काटे जाने की अपेक्षा उनका लगभग उतनी ही राशि में ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन बीमा तथा वाहनों का न्यूनतम शुल्क पर प्रदूषण जांच कराया जावे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा यातायात पुलिस के अधिकारियों से चर्चा उपरांत परिवहन विभाग के हीरालाल ध्रुव से संपर्क होने पर उन्होंने जनहित में पुलिस के इस पहल में पूर्ण सहयोग अपनी टीम के साथ दी गई।
इस संबंध में जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (यातायात) रोहित बघेल ने बताया कि गत माह 22 से 29 सितंबर 2021 के दौरान स्थानीय नेहरू चौक एवं पुराना बस स्टैंड में एक ही स्थान पर आम जनता की सुविधा के लिए लाइसेंस वाहन, बीमा व प्रदूषण जांच कराई गई दोनों ही स्थानों से कुल मिलाकर 1190 लाइसेंस हेतु सभी आयु वर्गों के लोगों द्वारा शासन द्वारा निर्धारित शुल्क पर ऑनलाइन आवेदन भरकर प्रक्रिया पूर्ण कराई गई, जिसमें लाइसेंस हेतु आगामी प्रक्रिया 01 अक्टूबर से परिवहन कार्यालय लगरा में प्रारंभ की गई , जहां इन्हें प्रति दिन पहले रोड सेफ्टी सेल के टीम प्रभारी उपनिरीक्षक उमाशंकर पांडेय द्वारा यातायात नियमों की विस्तृत जानकारी जिसमें दुर्घटना के कारण व निवारण दुपहिया चालकों के लिए हेलमेट की आवश्यकता तथा गुडसेमेरिटन कानून की जानकारी भी दी जा रही है गुड़सेमिरिटन के तहत सहयात्री होते हुए यदि किसी अन्य के साथ दुर्भाग्यवश सड़क दुर्घटना हो जाती है और ऐसे आहत व्यक्ति के इलाज हेतु आप किसी भी स्तर पर मदद करते हैं या तुरंत पुलिस 108, 112 अथवा आहट के परिजनों को फोन आदि से सूचित भी करते हैं तो आप गुड़सेमिरिटन कहलाते हैं एवं इस संबंध में कानून के अंतर्गत गुड़सेमिरिटन को पुलिस जांच पड़ताल एवं न्यायालय प्रक्रिया से बचाव प्रदान किया गया है ताकि स्वेच्छा से सड़क दुर्घटना में आहत की मदद कर सकें, जिसकी विस्तृत जानकारी दी गई साथ ही लाइसेंस प्रक्रिया के पूर्ण अभ्यर्थियों को उनसे वाहन चलाते समय ध्यान रखने योग्य बातें एवं सड़क संकेतक चिन्हों की भी जानकारी दी जा रही है।
इस प्रकार 01 अक्टूबर से 08 अक्टूबर 2021 तक कुल-830 लोगों का लाइसेंस बना कर उन्हें प्रदाय किया गया, शेष लोगों को उनके पूर्व नियत तिथि को प्रक्रिया पूर्ण कर लाइसेंस प्रदान किया जावेगा, जिसमें लगभग 80त्न युवा वर्ग से हैं जो कि उनके द्वारा लाइसेंस की उपयोगिता एवं आवश्यकता के प्रति जागरूकता को दर्शाती है, निश्चित ही जनहित में इस प्रकार के आयोजन पुलिस द्वारा समय-समय पर किए जायेंगे।