एसपी सागऱ चार सप्ताह में दें जवाब

सागर जिले की जरूआखेड़ा चौकी क्षेत्र के दौड़ा गौतमिया गांव में जहर खाकर अस्पताल पंहुचे युवक की इलाज के दौरान सोमवार को मौत हो गई। युवक ने मौत से पहले पुलिस को दिये गये बयान में जरूआखेड़ा थाना पुलिस पर गम्भीर आरोप लगाए थे। मौत से पहले युवक रवि ने मीडिया को भी बताया था कि चैकी प्रभारी राज की प्रताड़ना से बेहद त्रस्त है। उसने सीएम हेल्पलाईन में शिकायत की थी, जिसके बाद चौकी प्रभारी ने उसे चैकी में बुलाया था। वहां फिर से प्रताड़ना मिलने की आशंका के चलते उसने सल्फास की गोलियां खा लीं। मृतक रवि के पिता का आरोप है कि पुलिस ने उसके बेटे पर मारपीट का झूठा मुकद्मा बनाया, जबकि वास्तविकता यह है कि आरोपी इंदर चैधरी उसकी बेटी को परेशान करता था, जिससे उसके बेटे रवि ने इंदर को ऐसा करने से मना किया था। मामले में आयोग ने पुलिस अधीक्षक, सागऱ से चार सप्ताह में तथ्यात्मक प्रतिवेदन मांगा है।