सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाती , भिंड के मेहगांव भाजपा ने भूमिपूजन और लोकार्पण कार्यक्रम रखा गया था, जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और कैबिनेट मंत्री ओपीएस भदौरिया की उपस्थिति में भूमिपूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम था।
इस दौरान कांग्रेस की छिटपुट रैलियां भी हुईं, जिसमें 9 सितंबर को कैलारस-मुरैना में एक बड़ी रैली शामिल है
चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने माना कि अनलॉक होने के बाद लोगों के मिलने-जुलने से बढ़ा कोरोना
ग्वालियर में सितंबर के 13 दिन में मिल चुके हैं 2435 संक्रमित, 39 ने दम तोड़ दिया है, अगस्त का रिकॉर्ड टूटेगा

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पॉलिटिकल मूवमेंट बढ़ने के साथ कोरोना के केस में बेतहाशा बढ़ोत्तरी हुई है। भाजपा ने 20 दिन के अंदर ग्वालियर-चंबल इलाके में 20 से ज्यादा रैलियां कीं, जिसमें हजारों लोग शामिल हुए। इसकी शुरुआत 22 से 24 अगस्त को ग्वालियर भाजपा के मेगा शो (सदस्यता अभियान) से शुरू हुई थी, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना नियमों को दरकिनार किया गया। इस दौरान कांग्रेस ने 9 सितंबर को कैलारस और मुरैना में एक बड़ी रैली की थी, जिसमें कांग्रेस नेता सज्जन वर्मा, पीसी शर्मा और रामनिवास रावत आदि ने भाग लिया था, इस दौरान हजारों लोगों ने रैली में भाग लिया। इसके अलावा ग्वालियर में कांग्रेस की छिटपुट सभाएं ही हुई हैं।

अब शुरू होगा कांग्रेस का अभियान: उपचुनाव के दंगल में भाजपा के बाद कांग्रेस भी शक्ति प्रदर्शन करने की तैयारी कर रही है। इसके लिए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ 18 व 19 सितंबर को ग्वालियर में रहने वाले हैं। वे दोपहर 2 बजे ग्वालियर हवाई अड्‌डे पर आकर सबसे पहले फूलबाग के पास स्थित वीरांगना लक्ष्मीबाई की समाधि पर पहुंचकर पुष्पांजलि अर्पित कर चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगे।


इधर, ग्वालियर में कोरोना का कहर जारी है। सितंबर के 13 दिन में मिल 2435 संक्रमित मिल चुके हैं। वहीं 39 ने दम तोड़ दिया है। अगस्त के 31 दिन में 3699 संक्रमित मरीज मिले थे, वहीं 59 लोगों ने जान गंवाई है। 13 दिन में 2435 संक्रमित मिल चुके हैं। यानी औसतन रोज 187 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। इस दौरान 39 लोगों की जान चली गई। यानी रोजाना तीन कोरोना संक्रमित इलाज के दौरान दम तोड़ रहे हैं। आगे भी यही स्थिति रही तो सितंबर महीने के आखिर तक मरने वालों की तादात पिछले चार महीने में सबसे अधिक होगी।

इससे पहले अगस्त के 31 दिन में 3699 संक्रमित मरीज मिले थे। इनमें से 59 मरीजों की मौत हुई थी, लेकिन सितंबर में संक्रमित तेजी से बढ़े हैं। 13 में से 4 दिन तो 200 से अधिक मरीज मिले हैं। सितंबर के 17 दिन अभी बाकी है। विशेषज्ञों का मानना है कि आगे भी मरीज इसी रफ्तार से मिलते रहे तो 20 सितंबर से पहले ही संक्रमितों की संख्या अगस्त से ज्यादा हो जाएगी।


इधर, विश्वास सारंग ने सोमवार को कहा कि अनलॉक होने के बाद कोरोना के केस ज्यादा बढ़े हैं। इसकी वजह ये है कि लोगों का मिलना-जुलना बढ़ गया है। सारंग ने कोरोना मरीजों की पॉजिटिविटी रेट बढ़ने पर कहा कि जब टेस्ट ज्यादा होंगे तो संख्या बढ़ेगी। पर यह बात जरूर है पूरी दुनिया में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। अनलॉक के बाद लोगों के मिलने जुलना ज्यादा है, इसलिए संक्रमण फैलने की संभावना बढ़ गई है। मध्य प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी को लेकर सारंग ने कहा कि मुख्यमंत्री ने औद्योगिक ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में परिवर्तित करने का पूरी तरह निर्णय लिया है।

मुरैना में कांग्रेस की सभा में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते नेता और कार्यकर्ता।

भाजपा के कार्यक्रम पर हाई कोर्ट ने सख्ती दिखाई थी

ग्वालियर में 22 से 24 अगस्त को भाजपा ने एक मेगा शो का आयोजन किया था, जिसमें कांग्रेस छोड़कर आए लोगों को भाजपा की सदस्यता दिलाई गई थी। इसके खिलाफ जनहित याचिका हाईकोर्ट में दायर की गई थी, जिस पर हाईकोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए पूछा था कि इतना बड़ा कार्यक्रम कैसे हो गया? मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की दो सदस्‍यीय पीठ ने ग्वालियर में भाजपा के सदस्यता अभियान कार्यक्रम को चुनौती देने वाली जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कड़ा रुख अपनाते हुए कहा था कि जब शादी समारोह और अंत्येष्टि में लोगों की संख्या निर्धारित है तो शहर में इतना बड़ा राजनीतिक कार्यक्रम करने की अनुमति किसने दी। कार्यक्रम में सुरक्षित शारीरिक दूरी कहां दिख रही है।


हाईकोर्ट की इस सख्ती के बाद भी ताबड़तोड़ रैलियां, भूमिपूजन और लोकार्पण
हाईकोर्ट की सख्ती के बाद भी कोरोनाकाल में लगातार भाजपा के कार्यक्रम चालू रहे। 20 दिन में भाजपा नेताओं सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा लगातार सभाएं करते रहे। बीते शुक्रवार-शनिवार और रविवार को सीएम शिवराज, तोमर, सिंधिया और अन्य बड़े भाजपा नेताओं ने ग्वालियर, भिंड, मुरैना और दतिया में ताबड़तोड़ रैलियां, भूमिपूजन और लोकार्पण के कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसमें हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए।

भाजपा के ग्वालियर और चंबल संभाग में लगातार कार्यक्रम हो रहे हैं।

ग्वालियर में 6 दिन में 2 बार 200 से ज्यादा केस

ग्वालियर में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बेकाबू है। यहां पर हर रोज 150-200 नए केस आ रहे हैं। बीते 6 दिनों में ग्वालियर में 2 बार 200 से ज्यादा केस मिले हैं। अब तक 7640 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, 83 मरीजों की मौत हो गई है। कुल 5472 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। जबकि 2085 एक्टिव केस हैं। इसके बाद भी सरकार को नहीं लग रहा है कि यहां पर कोरोना केस बढ़ रहे हैं। 8 सितंबर को 107, 9 को सितंबर को 204, 10 सितंबर को 184, 11 सितंबर को 188, 12 सितंबर को 207 और 13 सितंबर यानि रविवार को 156 केस सामने आए हैं।