जेनेवा । कोरोना वायरस महामारी के कारण फीफा विश्व कप और क्लब विश्व कप फुटबॉल का कार्यक्रम भी प्रभावित हुआ है। कोरोना के कारण ही फीफा के क्लब विश्व कप के एक सत्र को स्थगित करने के बाद दूसरे सत्र में भी बाधा आ रही है। इसके अलावा 2022 विश्व कप क्वालीफाइंग मुकाबलों में देर होने के कारण टूर्नामेंट को समय पर कराने को लेकर चिंताएं भी बढ़ गयी हैं। फीफा के अध्यक्ष जियानी इन्फेंटिनो ने महाद्वीपीय क्लब चैंपियनशिप के लिए पारंपरिक सात-टीमों के टूर्नामेंट को अब नई तिथियों पर आयोजित करने की बात कही है। पहले इसका आयोजन दिसंबर में कतर में होना था। क्लब विश्प कप को पारंपरिक सात टीमों की जगह 2021 से 24 टीमों के बीच खेला जाना था पर फीफा ने इस योजना पर फिलहाल रोक लगा दी है। यूरोपीय चैम्पियनशिप और कोपा अमेरिका 2020 को एक वर्ष के लिए स्थगित होने के कारण फीफा को क्लब विश्व कप के आयोजन के लिए समय मिल गया है। विश्व कप 2022 के लिए महाद्वीपीय क्वालीफायर मुकाबलों में हो रही देरी पर भी इंफेंटिनों ने चिंता जतायी है। एशिया में अगले साल से पहले इसके मैच नहीं होंगे। इंफेंटिनो ने कहा, ‘‘मैं चिंतित हूं। यह एक वास्तविक समस्या है, खासकर अगर महामारी का असर खत्म या कमजोर नहीं हुआ तो भी हम सामान्य तरीके से खेलना शुरू नहीं कर सकेंगे।’’ उन्होंने कहा कि संक्रमण से बचाव के लिए  कम यात्राएं करनी होंगी। ऐसे में घरेलू और दूसरे देशों की धरती पर खेलने की जगह एक ही जगह पर सभी क्वालीफायर मैच रखे जाने चाहिये।