कोलकाता |  पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले चल रही राजनीतिक लड़ाई अब कानूनी विवाद में भी तब्दील होती दिख रही है। सूबे की सीएम ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने होम मिनिस्टर अमित शाह के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया है। इस केस की सुनवाई करते हुए एमपी-एमएलए की स्पेशल कोर्ट ने अमित शाह को 22 फरवरी को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया है। हालांकि अमित शाह को व्यक्तिगत पेशी से छूट दी गई है। वह अपने वकील के जरिए भी पक्ष रख सकते हैं।

अभिषेक बनर्जी के वकील संजय बसु ने बताया, 'स्पेशल कोर्ट ने अमित शाह को व्यक्तिगत या फिर अपने वकील के जरिए 22 फरवरी को 10 बजे पेश होने का आदेश दिया है।' यह मामला 2018 में एक रैली के दौरान अमित शाह की ओर से अभिषेक बनर्जी पर लगाए गए आरोपों का है। 11 अगस्त 2018 को बीजेपी की युवा स्वाभिमान रैली के दौरान अमित शाह ने ममता बनर्जी के भतीजे पर करप्शन के आरोप लगाए थे।

अभिषेक बनर्जी की ओर से दायर मानहानि केस में अमित शाह पर आरोप लगाया है कि उन्होंने उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर छवि खराब की है। अमित शाह ने कहा था, '...नारदा, शारदा, रोज वैली, सिंडिकेट करप्शन, भतीजे का करप्शन। ममता बनर्जी ने लगातार भ्रष्टाचार किए।' अमित शाह ने कोलकाता में एक रैली को संबोधित करते हुए यह बात कही थी। इसके अलावा अमित शाह के एक और बयान का अभिषेक बनर्जी ने हवाला दिया है।

इस बयान में अमित शाह ने कहा था, 'बंगाल के गांवों के लोगों क्या आपके गांव तक पैसा पहुंचता है? जोर से बताइए। क्या आपके गांव तक पैसा पहुंचता है? यह कहां चला जाता है? मोदी जी भेजते हैं। आखिर 3,59,000 करोड़ रुपया कहां चला गया? क्या यह भतीजे और सिंडिकेट को गिफ्ट कर दिया गया। या फिर तृणमूल कांग्रेस के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया।'

बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। गुरुवार को ही अमित शाह और ममता बनर्जी की रैलियां थीं। इसके अलावा अमित शाह आज भी पश्चिम बंगाल में ही हैं। ममता बनर्जी ने एक रैली में अमित शाह पर हमला बोलते हुए कहा था कि मुझसे मोर्चा से लेने से पहले अमित शाह चाहें तो मेरे भतीजे अभिषेक से मुकाबला कर सकते हैं। अगर उनकी हिम्मत है तो वह अभिषेक बनर्जी के मुकाबले चुनाव लड़कर दिखाएं। ममता बनर्जी और बीजेपी नेताओं के बीच चल रही जुबानी जंग आने वाले दिनों में और तेज हो सकती है। पीएम नरेंद्र मोदी भी 25 फरवरी को पश्चिम बंगाल पहुंच रहे हैं।