खरगोन मध्यप्रदेश के खरगोन में एक इंजीनियर की हैवानियत सामने आई है। उसने दूसरी शादी करने के लिए पत्नी को करंट लगाकर मारने की कोशिश की। नहाते समय बाथरूम में करंट छोड़ दिया और बाहर से पानी फेंक दिया, करंट लगते ही वह कमोड पर चढ़ी और खिड़की से बचाने की गुहार लगाई। चीख सुनकर किराएदार और पड़ोसी पहुंचे और उसे अस्पताल ले गए। घटना बिस्टान रोड स्थित ब्रज विहार कॉलोनी की है। पति मुकेश डावर झिरन्या में बिजली कंपनी में जूनियर इंजीनियर है।

मेरी हत्या को आत्महत्या साबित कर देगा, दूसरी पत्नी लाएगा- नेहा

इंजीनियर की पत्नी नेहा ने बताया कि दो साल से पति मुकेश मारपीट करता है। इसके पहले भी कई बार गंभीर रूप से मारपीट की है। पंद्रह दिन पहले मारपीट की थी। मुझे सिर में चार टांके लगे थे। उसने जूते से मेरे चेहरे पर वार किया था। अस्पताल में दो दिन भर्ती रही। अगस्त में भी पीटा था। इसकी शिकायत खरगोन महिला थाने में की थी। पुलिस ने समझौता करा दिया था। इससे पहले बड़वानी थाने में शिकायत की तो वहां से समझौता करा दिया था। समझौते के कुछ दिन के बाद ही फिर से पीटा था। वह कहता है कि मैंने झिरन्या में एक लड़की से सगाई कर ली है। उससे शादी करूंगा। दूसरी शादी करने के लिए मेरी हत्या कर देगा। उसे आत्महत्या साबित कर देगा।

2013 में हुई थी शादी

अस्पताल में भर्ती नेहा ने बताया कि 2013 में मुकेश से शादी हुई थी। शादी के चार साल तक तो सब ठीक रहा, इसके बाद उसने मारपीट शुरू कर दी। दो साल से उसकी हैवानियत और बढ़ गई है। मंगलवार को वह अस्पताल आया और 3 साल की बेटी को अपने साथ ले गया। वह लड़की के लिए मुझे जान से मारना चाहता है। कहता है पुलिस के पास गई तो जान से मार दूंगा। मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। कई बार पड़ोसियों ने मुझे बचाया है। पड़ोसियों से भी विवाद करता है। नेहा का कहना है कि अब तक पति को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

तेरी बेटी के हाथ-पैर तोड़ दिए हैं, अस्पताल आ जा

सेंधवा के झोपाली के रहने वाले नेहा के पिता रामदुलारे ने बताया कि उसे दामाद मुकेश ने फोन किया कि तेरी बेटी के हाथ-पैर तोड़ दिए हैं। उसका इलाज करवाने को जिला अस्पताल खरगोन आ जा। इसके बाद उसने फोन बंद कर दिया।

मामले की जांच चल रही है

एएसपी डॉ. नीरज चौरसिया का कहना है कि महिला को जान से मारने का मामला आया है। पुलिस जांच कर रही है । जल्द आरोपी को गिरफ्तार करेंगे।