भाजपाई गांव-गांव सक्रिय...कांग्रेसी गए दशहरा मनाने


भोपाल । खंडवा लोकसभा उपचुनाव में चुनाव प्रचार के लिए आज से 15 दिन बाकी है। कांग्रेस में फिलहाल बैठकों का दौर ही खत्म नहीं हुआ है, वहीं भाजपा संगठन नेता व मंत्री गांव-गांव में सभाएं कर रहे हैं। चुनाव प्रचार की हकीहत देखें तो भाजपा संगठन इस वक्त भी प्रचार कर रहा है। जबकि, मंगलवार को कमलनाथ के साथ आए पूर्व मंत्री और विधायकों ने रवानगी ले ली। पार्टी के मुताबिक, सभी नेता अब रावण दहन के बाद आएंगे।उपचुनाव के लिए 30 अक्टूबर को मतदान होना है। 28 अक्टूबर की शाम तक चुनाव प्रचार थम जाएगा। इस तरह सभी उम्मीदवार व राजनीतिक पार्टियों के लिए अगले 15 दिन का समय है, जिसमें वह अपना विजन रखकर वोटर्स को अपने पक्ष में कर सकते है। लेकिन, सियासी सरगर्मी में अभी तक भाजपा एक्टिव मोड में है। हालांकि, मंगलवार को हुई पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की आमसभा के बाद कांग्रेस भी फ्रंट पर आ गई है।

भाजपा में ये नेता-मंत्री चुनाव प्रचार में लगे
भाजपा में सत्ता और संगठनात्मक दृष्टि से मंत्री हरदीपसिंह डंग, डॉ. मोहन यादव, विजय शाह, तुलसी सिलावट, इंदौर सांसद शंकर लालवानी, प्रदेश महामंत्री कविता पाटीदार, किसान मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बंशीलाल गुर्जर, संगठन नेता जयसिंह हाड़ा बुधवार को भी चुनाव प्रचार कर रहे हैं। ये नेता व मंत्री खंडवा मुख्यालय के अलावा अपने प्रभार वाले विधानसभा क्षेत्र में रात्रि विश्राम तक कर रहे हैं। प्रचार-प्रसार के लिए गांव-गांव में पैदल भ्रमण के अलावा सभाएं और चौपाल चर्चाएं कर रहे है।

कांग्रेस के कुछ नेता डटे, बाकी दशहरा बाद आएंगे
कांग्रेस में फिलहाल पूर्व मंत्री पीसी शर्मा और प्रेमचंद गुड्डू खंडवा में है, बाकी पूरे संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस नेताओं ने रवानगी ले ली है। युवक कांग्रेस और सेवादल भी सक्रिय नहीं है। कमलनाथ की सभा में पूर्व मंत्री जयवर्धनसिंह, जीतू पटवारी, सचिन यादव, चुनाव प्रभारी मुकेश नायक, राजकुमार पटेल, जयस नेता हीरालाल अलावा आदि शामिल थे। अब यह नेता दशहरा बाद आएंगे, संगठन स्तर पर बैठकें होना बाकी है। आज अरुण यादव का भी कोई कार्यक्रम नहीं है।

भाजपा मंडल स्तर पर उतारेगी विधायक-संगठन मंत्री
चुनाव प्रचार के लिए भाजपा अब बूथस्तर पर संगठन मंत्री और नेताओं को उतारेगी। इसके साथ वरिष्ठ विधायकों की श्रेणी में 50 से ज्यादा वर्तमान विधायकों को रखा गया है। जिन्हें मंडल स्तर पर चुनाव प्रचार की कमान दी जाएगी। दशहरे के दूसरे दिन से सभी चुनाव प्रभारी खंडवा आ जाएंगे।